Latest Posts

Sanjeet Kumar: एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता।

हेलो फ्रेंड्स भारतीय बॉक्सर sanjeet kumar ने गोल्ड मेडल जीतकर बॉक्सिंग रिंग में इतिहास रच दिया है।

Asian Boxing Championship

भारत में वर्तमान स्थिति के कारण, भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने एशियाई मुक्केबाजी परिसंघ (एएसबीसी) के परामर्श से दुबई में एएसबीसी एशियाई अभिजात वर्ग पुरुष और महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप के 2021 संस्करण का आयोजन करने का निर्णय लिया।

भारत में बॉक्सिंग उतनी प्रसिद्ध नहीं है लेकिन भारत के बाहर यह बहुत प्रसिद्ध है। आजकल धीरे-धीरे लोग क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों में रुचि दिखा रहे हैं। यही कारण है कि भारत में लोग ट्रेनिंग पाने के लिए boxing classes near me की तलाश करने लगते हैं।

कई विश्व स्तरीय मुक्केबाज ASBC में शामिल हुए हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाया है लेकिन इस बार भारत स्वर्ण पदक के साथ हाइलाइट हो गया है।

Indian Boxer

हरियाणा के 26 वर्षीय मुक्केबाज Sanjeet Kumar ने कजाखस्तान के मुक्केबाज वासिली लेविट को हराकर एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप जीती। वासिली 2016 ओलंपिक में दो बार bronze medal विजेता हैं और उन्होंने विश्व चैंपियनशिप में silver medal जीता है। 2014 में, संजीत को कजाकिस्तान में राष्ट्रपति कप में उसी मुक्केबाज से हराया गया था, जिसके लिए उन्होंने 61 किलोग्राम श्रेणी में खिताब जीतकर बदला लिया था।

Sanjeet ने कहा, “यह मेरे करियर का अब तक का सबसे अच्छा पल है।” हालांकि विश्व चैंपियनशिप में मैं क्वार्टर फाइनल में पहुंचा हूं। ओलंपिक पदक विजेता को हराने से बड़ी खुशी का कोई पल नहीं है। यह एक जबरदस्त उपलब्धि है और मुझे इस पर गर्व है। एक समय में मैंने पढ़ाई न करने के कारण बॉक्सिंग शुरू की थी और आज यह मेरे जीवन का मुख्य केंद्र बन गया है।

Sanjeet Kumar अच्छे मुक्केबाज हैं और उनके भाई उनके कोच हैं। बॉक्सिंग के प्रति उनका जुनून सिर्फ उनके भाई की वजह से है। एक और भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल उज्बेकिस्तान के शेकोबिन जोइरोव के साथ फाइनल हार गए। वह 3-2 से हार गए। खेल अद्भुत था जहां अमित ने उसे जबरदस्त लड़ाई दी जो उज़्बेक मुक्केबाज के लिए अप्रत्याशित था।

Leave a Comment